न्यूज़हरियाणा

प्रदेश के आई.ए.एस अफसरों की संख्या में हुआ ईज़ाफा

38 एचसीएस अफसर बने आई.ए.एस

हरियाणा प्रभात टाईम्स / ब्यूरो

चंडीगढ़ । कानूनी पेचीदगियों के कारण सात साल से आइएएस बनने का इंतजार कर रहे हरियाणा के 38 एचसीएस अधिकारियों को अब पदोन्नति का तोहफा मिला है। केंद्र सरकार के कार्मिक विभाग ने बुधवार को वर्ष 2012 से 2018 तक के पात्र अधिकारियों को आइएएस का दर्जा देते हुए लिखित आदेश जारी कर दिए। आइएएस बने एचसीएस अधिकारियों में वर्ष 2012 के 10, 2013 और 2014 के पांच-पांच, 2015 के चार, 2016 के तीन, 2017 के सात और 2018 के चार अधिकारी शामिल हैं।

बता दें कि एचसीएस अधिकारियों की वरिष्ठता को लेकर लंबे समय से हाई कोर्ट में केस चल रहा था। विगत दिसंबर में हाई कोर्ट ने एचसीएस अधिकारियों की वरिष्ठता सूची पर सवाल खड़े करते हुए संशोधन के निर्देश दिए थे। इसके बाद वरिष्ठता सूची में निचले पायदान पर चल रहे कई एचसीएस अधिकारियों के आइएएस बनाने की संभावनाएं बढ़ गईं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने भी इस फैसले पर मुहर लगा दी जिससे तीन दर्जन से अधिक एचसीएस अधिकारियों के आइएएस बनने का रास्ता साफ हो गया था।

वर्ष 2012

अमरजीत सिंह मान, सुजान सिंह, अशोक कुमार गर्ग, प्रदीप गोदारा, राम स्वरूप वर्मा, मोनिका मलिक, जयबीर सिंह आर्य, महेश्वर शर्मा, गिरिश अरोड़ा व मुकेश कुमार आहूजा।

वर्ष 2013

अजय मलिक, कुलवंत कुमार कलसन, राजेश जोगपाल, जितेंद्र कुमार और हेमा शर्मा।

वर्ष 2014

मुकुल कुमार, नरेश कुमार, अंजू चौधरी, महावीर कौशिक व यश पाल।

वर्ष 2015

यशेंद्र सिंह, नर हरि सिंह बांगड़, राजीव मेहता व प्रदीप कुमार।

वर्ष 2016

धर्मेद्र सिंह, रितु व धर्मवीर सिंह।

वर्ष 2017

रामकुमार सिंह, सुशील सारवान, मनोज कुमार, शक्ति सिंह, मंदीप कौर, प्रतिमा चौधरी और वीरेंद्र कुमार दहिया।

वर्ष 2018

महावीर सिंह, जगदीश शर्मा, ललित कुमार और वीरेंद्र लाठर।

Tags
Show More

Related Articles

Close